मंगलवार, 22 सितंबर 2009

सयुक्तरूप में प्रथम. विजेता अरविंद मिश्रा समीरलालजी

आंटीज..अंकल्स एंड दीदी-दीदा... ज, आपका लाडला दुलारा मै...  मुंबई  से संपत का 'पेरी-पोना'. कल  पहेली-8 में  आपसे एक सवाल पूछा गया था की चित्र किस प्रसिद्ध ब्लोगर  अंकल का है.
 बुझो तो जाने मोजा ही मोजा-8 का सवाल का सही उत्तर है -

[ashish-1.jpg]


सबसे पहले सही उतर लेकर आए थे क्वचिदन्यतोअपि....., वाले अंकल, पर समीर अंकल ने अपना प्यार भरा विरोध जताया की -" आशीश गलत जबाब है क्यूँकि आशीष दुबे भी हैं ". तब हमारे परामर्शक मंडल से सलाह ली गई.  और ताबा यह निर्णय किया गया की अरविन्द अंकल ने जिस आशीष का नाम लिया तब उनके मन में खंडेलवाल अंकल ही रहा होगा. इसके तुरंत बाद उड़न तश्तरी ....  वाले अंकल समीर अंकल ने भी सही जवाब दिया अत: दोनों को  
सयुक्तरूप में प्रथम. विजेता घोषित किया गया. आप दोनों को घणी घणी बधाई.
सयुक्तरूप में प्रथम. विजेता 
अरविंद मिश्रा 
समीरलालजी 
आप दोनों को सयुक्त प्रथम विजेता के रूप में घोषित किया जाता है. बधाई जी ..... बधाई.....





ज्ञान दर्पण वाले रतनसिंहजी   अंकल,,
ताऊ रामपुरिया  अंकल  
Vivek Rastogi अंकल,  
अजय कुमार झा, अंकल,   
राज भाटिय़ाजी, अंकल  
प्रवीण जाखड़ अंकल सभी ने सही उतर देकर प्रोत्साहन दिया.
इसके अलावा आप सभी ने इसा प्रतियोगता में भाग लेकर सहयोग किया.
संगीतापुरी जी, एम वर्माजी, आशीष जी  खंडेलवाल ,  राम,  आप सभी का भी शुक्रिया.
आशीष जी  खंडेलवाल एक परिचय 

खंडेलवालजी किसी परिचय के मोहताज नहीं है.  आशीष जी गुलाबी नगरी जयपुर के रहवासी है.  शांत स्वभाव के मालिक आशीषजी राजस्थान पत्रिका जयपुर के सब एडिटर के पद को सुशोभित कर रहे है.फरवरी २००७  "हिंदी ब्लॉग टिप्पस" के माध्यम से टेक्नीकल सेवाए मुप्त में प्रदान कर हिंदी ब्लोग के विकास में  अपना भरपूर योगदान दे रहे है.. 
आशीषजी अपने ब्लॉग "हिंदी ब्लोग टिप्पस" के माध्यम कुल प्रविष्ठियां: २०४  लिख कर एक रिकोर्ड के समीप पहुचे.
ताऊ डॉट इन में  प्रत्येक सोमवार को आशीषजी  “ दुनिया मेरी नजर से एक कोलम भी लिखते है. जो पाठक लोगो के बिच काफी रुचि से पढा जाता है. "हेपी ब्लोगीग" श्लोगन के जनक आशीषजी  वेब दुनिया के बड़े ही जानकार है एवं टेक्नीकल एवं नई -नई  कम्पियूटर सम्बंधित जानकारी मुहया कराते रहते है. 
सलेक्सन एवं कलेक्सन ब्लॉग पर आपका  हार्दिक स्वागत करता है एवं शुभ कामनाए. ..





8 टिप्पणियाँ:

Udan Tashtari ने कहा…

ये संयुक्त वाला कान्सेप्ट सही रहा...

हनुमत सेइ सर्व सुख करई, संकट कटे मिटे सब पीरा


ऐसे ही हो सकता था वरना हम तो धमाल मचाते. अब अरविंद जी को गले मिल कर बहुरे बधाई बराबरी से.

22 सितंबर 2009 को 8:59 am
Vivek Rastogi ने कहा…

संयुक्त विजेताओं को बधाई ।

22 सितंबर 2009 को 9:55 am
रंजना [रंजू भाटिया] ने कहा…

विजेताओं को बधाई ...

22 सितंबर 2009 को 10:56 am
राज भाटिय़ा ने कहा…

विजेताओं को बधाई इस बार मर्दो ने मेदान मार लिया :)

22 सितंबर 2009 को 2:21 pm
Arvind Mishra ने कहा…

तभी तो मैं कहूं की आखिर मुझे विजेता होने से क्यों वंचित किया जा रहा है ? कोई कहे तो की वह आशीष की फोटुआ नहीं है !
बहरहाल निर्णयक मंडल ने सही फैसला सुना दिया मेरा विश्वास जम गया ! शुक्रिया दोस्त !

22 सितंबर 2009 को 6:42 pm
ताऊ रामपुरिया ने कहा…

हनुमत सेइ सर्व सुख करई, संकट कटे मिटे सब पीरा

जय हो ! दो महारथियों को एक साथ विजेता देखकर आनंद आगया जी. आशीष जी को बधाई.

रामराम.

22 सितंबर 2009 को 11:05 pm
Ratan Singh Shekhawat ने कहा…

दोनों महारथियों को बधाई :)

23 सितंबर 2009 को 7:35 am
ताऊ रामपुरिया ने कहा…

इष्टमित्रों और परिवार सहित आपको, दशहरे की घणी रामराम.

रामराम.

28 सितंबर 2009 को 1:25 am

एक टिप्पणी भेजें

SELECTION-COLLECTION पर आपका हार्दिक स्वागत है जी!
SELECTION-COLLECTION पर आप पधारे इसलिऐ आपका शुक्रिया।
आप हमारे लिऐ अति-महत्वपुर्ण है।
आपके दो शब्द कमेन्ट के रुप मे मिल जाऐ तो हमे खुशी होगी।
आभार