बुधवार, 9 सितंबर 2009

पहेली -5, सही उत्तर-ज्ञानदत्त जी पांडे,विजेता बनी है- सीमा गुप्ताजी,

आपसे पहेली -5 में पूछा गया था की लंदन की आर्ट गैलेरी में तस्वीर कोनसे हिंदी ब्लोगर की है ?
सही उत्तर था -
मानसिक हलचल के ज्ञानदत्त जी पांडे .    
इसमे सही उत्तर देकर सबसे पहले विजेता बनी है-कुछ लम्हे की मालकिन  सीमाजी  गुप्ताजी, 
उसके बाद आए उडन-तस्तरी के मालिक श्री समीरलालजी 
आप दोनों को
घणी - घणी  बधाई .
अब देखते है
ज्ञानदत्त जी पांडे की विभिन्न मुद्राओं में तस्वीर ........
 
 पहेली का मूल मकसद है खेल-खेल में हमारे आदरणीय वरिष्ट ब्लोगरो के बारे में  आमजन में जानकारी देना . किसी की भावना को दुख पहुचाना हम नहीं चाहते पर किसी को कोई आपति  हो तो हमें सुचिता करे .

प्रथम विजेता 
एक परिचय 
                                                                         

9 टिप्पणियाँ:

seema gupta ने कहा…

वाह ये भी खुब रही आभार
regards

9 सितंबर 2009 को 8:52 am
seema gupta ने कहा…

आदरणीय समीर जी को बधाई...
regards

9 सितंबर 2009 को 8:58 am
Anil Pusadkar ने कहा…

ऐसा भी होता है क्या?हा हा हा हा बधाई सीमा जी को।

9 सितंबर 2009 को 11:13 am
Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" ने कहा…

सीमा जी और समीर जी दोनों को बधाई......
ब्लाग का नाम "s" से(selection & collection)
पहेली का दिन "s" से(sunday)
विजेताओं के नाम "s" से(seema ji nd samir lal ji)
:)

9 सितंबर 2009 को 2:19 pm
नीरज गोस्वामी ने कहा…

आपके ब्लॉग पर आकर मजा और मौजा दोनों आ गयी...इतना सुन्दर ब्लॉग रचित किया है की यहाँ से और कहीं जाने का दिल ही नहीं करता...हमारा ब्लॉग तो श्वेत श्याम फिल्मों की तरह एक रस है लेकिन आपका तो गज़ब का रंगीन है जी और रंगीन ही नहीं रोचक भी है...बधाई..
नीरज

9 सितंबर 2009 को 3:58 pm
अभिन्न ने कहा…

प्रथम बार आया हूँ देख कर बहुत अच्छा लगा,ब्लॉग बड़ा ही मनभावन है वाकई मौजा ही मौजा है,अब तक के सभी विजेताओं को बधाइयाँ ओर मंगलकामनाएं
.......अभिन्न

16 सितंबर 2009 को 10:50 pm
ѕнαιя ∂я. ѕαηנαу ∂αηι ने कहा…

मेरा introduction मैं Dr. Sanjay Dani हूं दुर्ग छत्तीसगढ क निवासी हूं। ear-Nose-throat surgeon हूं। पिछ्ले 8 सालों से गज़ल लिख रहां हूं। 2 गज़ल संग्रह शाया हो चुकी है। पहली बार ब्लोग की दुनिया मे प्रवेश कर रहं हूं। बहुत inspiring लग रहा है। आपकी रचनायें सरसरी तौर से पढी अच्छी लगी ,बधाई व धन्यवाद। आपकी रच्नाओं के बारे में कुछ और कहने की कोशिश आगे करूंगा।

4 जून 2010 को 7:42 am
ѕнαιя ∂я. ѕαηנαу ∂αηι ने कहा…

(अपनी चार पंक्तियां}
आसमां से मेरी दुश्मनी नहीं है , मेरे घर मे मगर रौशनी नहीं है।
चांद को छत पे उतार आया हूं , साथ उसके मगर चांदनी नहीं है।
मैं खुदा बनने की कर रहा हूं कोशिश , मेरे अन्दर अभी आदमी नहीं है।
रोज़ करता हूं मंझधार की इबादत , साहिलों के लिये बन्दगी नहीं है।
और की ख्वाहिश मे भटक चुके हैं हम सब,जबकि हमको ज़रा भी कमी नहीं है।

6 जून 2010 को 6:32 pm
Hadi Javed ने कहा…

Seema ji Ke blog ke dwara yahan tak pahuncha. Dhanaywad seema ji
Is blog per aakar achcha laga. Badhai sweekar karen

24 मार्च 2011 को 3:29 pm

एक टिप्पणी भेजें

SELECTION-COLLECTION पर आपका हार्दिक स्वागत है जी!
SELECTION-COLLECTION पर आप पधारे इसलिऐ आपका शुक्रिया।
आप हमारे लिऐ अति-महत्वपुर्ण है।
आपके दो शब्द कमेन्ट के रुप मे मिल जाऐ तो हमे खुशी होगी।
आभार