सोमवार, 14 सितंबर 2009

पहेली - 7 का हल, श्री रतन सिंहजी शेखावतजी का परिचय



सभी अंकल आन्टीजी को सम्पतराम का प्रणाम।
मै आपके लिऍ  पहेली- 7 मे पुछे गऍ सवाल के सही जवाब लेकर आया हू ।  
पहेली-7 मे जिस अंकल का नाम पुछा गया था उनका नाम है - श्री रतन सिंहजी शेखावत
                                                   
सबसे पहले सही उतर देखर प्रथम विजेता बनी है गत्‍यात्‍मक ज्‍योतिष  वाली आन्टी संगीता पुरी
द्वितिय विजेता के रुप मेउडन तस्तरी वाले श्री समीर अंकल, पहेली किग आन्टी सीमाजीजी  एवम पहेलियो के मार्केट के बेताज बादशाह ताऊ  अंकल, ने भी सही उतर दिया। आप सभी विजेताओ को घणी- घणी बधाई
ने पधारकर एवम पहेली मे हिस्सा लेकर हमारा उत्साह बढाया, आप सभी का आभार
सलेक्शन और कलेक्शन
पहेली - 7 की प्रथम विजेता
संगीता पुरी
हार्दीक शुभकामना


सलेक्शन और कलेक्शन
पहेली - 7 की द्वितिय विजेता
समीर लालजी
हार्दीक शुभकामना









परिचयनामा : श्री रतन सिंह शेखावत   
राजस्थान के सीकर जिले में इसी भगतपुरा गांव के रहवासी  श्री रतन सिंह शेखावतजी  . जिन्हे आप उनके ब्लाग ज्ञान दर्पण  और राजपूत वर्ल्ड के जरिये भली भांति जानते हैं. आपने   B.COM  तक शिक्षा ग्रहण की। फोटोग्राफी,  फूटबाल,   बोलीबोल आदि खेलने के अलावा अपने पूर्वजों का इतिहास पढना बहुत शेखावतजी को अच्छा लगता है , लेकिन अब तो उनका सबसे बड़ा शौक ब्लोगिंग ही हो गया है।   श्री रतन सिंहजी शेखावत  ने 20 नवम्बर 2008 को ब्लोगिग का सफर शुरु किया । उन्होने 20 नवम्बर2008 से 30 नवम्बर 2008 यानी  दस दिनो मे  77 पोस्टे लिख डाली जो अब तक अपने आप मे रिकार्ड है।
उन्होने  ►  2008 मे 102  और ►  2009 मे कल तक102  पोस्टे लिखने का गोरव हासिल किया।
शेखावतजी से बातचीत उनके विभिन्न ब्लोगो द्वारा सम्पादित अश
आपके जन्म स्थान एवम गाव के बारे मे बाताऍ ?
मेरा गांव भगतपुरा    मेरा गांव राजस्थान के सीकर जिले में सीकर-जोधपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर सीकर से 30km दूर खूड व लोसल के बीच स्थित एक पूर्ण विकसित आदर्श गांव है , जहाँ हिंदू धर्म की अनेक जातियाँ सोहार्दपूर्ण माहोल में निवास करती है जिनमे "शेखावत" राजपूतों का बाहुल्य हे | भगतपुरा आज से लगभग 250 वर्ष पूर्व खूड के कुं.गुलाब सिंघ जी व कुं नवल सिंघ जी ने बसाया था | शिक्षा के लिए गांव में तीन स्कूल स्थापित है साथ ही उच्च शिक्षा के लिए महज 1km की दूरी पर "बाबा खींवा दास महाविद्यालय" है,जहाँ गांव के युवा उच्च शिक्षा प्राप्त करते है और दूर-दराज के छात्र भी भगतपुरा में रहकर इस महाविद्यालय से शिक्षा प्राप्त कर रहे है |
सुना है आपके गाव मे बजरगबली के प्रति अटुट अस्था  है ?
हर खेत में  हनुमान मन्दिर    शेखावाटी की जनता हमेशा ही धर्मपरायण रही है ,यहाँ वाशिंदों में हनुमान जी के प्रति असीम आस्था है | हनुमान जी महाराज को पाताल का स्वामी भी माना जाता है इसलिए जब भी किसी कुए या टुबवेल की खुदाई की जाती है उस स्थान पर सबसे पहले बजरंग बलि का "देवरा"(मन्दिर ) बनाया जाता है बजरंग बलि की स्थापना के बाद ही कुए आदि का निर्माण कार्य शुरू किया जाता है। गाँव का हर एक किसान साल में एक बार बजरंग बली को खुश रखने के लिए जागरण व सवा मणी जरुर करता है ।
सुना है आपकी वशवाली आस्ट्रेलिया की एक वेबसाइट पर  है ?
जी हां आस्ट्रेलिया की एक वेबसाइट पर आप राजपूत बंधु अपने परिवार की वंशावली देख सकते है जो अभी तक रावों , बङवो, बहिभाटों व हरिद्वार के पंडितों के पास ही उपलब्ध होती थी , लेकिन अब यह आपको इंटरनेट पर आस्ट्रेलिया की वेबसाइट इंडियन प्रिंसली स्टेटस पर उपलब्ध हे जहाँ आप देख सकते है  व अपने परिवार की वंशावली अपडेट करा  सकते है |
उदाहरण के लिए मेरी वंशावली देखने के लिए इस पर क्लिक करें
आपका बहुत बहुत आभार शेखावतजी, एवम मगलकामनाऍ। 
                        

3 टिप्पणियाँ:

राज भाटिय़ा ने कहा…

बधाई सब को जी

14 सितंबर 2009 को 5:16 pm
Nirmla Kapila ने कहा…

sab ko ghaNee ghaNee badhaaI

14 सितंबर 2009 को 7:41 pm
Ratan Singh Shekhawat ने कहा…

पहेली के सभी विजेताओं को हार्दिक शुभकामनाएँ ! बहुत अच्छा लगा यहाँ पर आपने आप से मिलना !

14 सितंबर 2009 को 8:27 pm

एक टिप्पणी भेजें

SELECTION-COLLECTION पर आपका हार्दिक स्वागत है जी!
SELECTION-COLLECTION पर आप पधारे इसलिऐ आपका शुक्रिया।
आप हमारे लिऐ अति-महत्वपुर्ण है।
आपके दो शब्द कमेन्ट के रुप मे मिल जाऐ तो हमे खुशी होगी।
आभार